आईपीएल के बीच में बदले जा सकेंगे खिलाडी 13 अक्टूबर से खुली ट्रांसफर विंडो

October 14, 2020

यह आईपीएल लगभग आधा  खत्म हो चूका है, और टूर्नामेंट की मिड-सीजन ट्रांसफर विंडो भी खुल गयी है। पिछले सीज़न के विपरीत, आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने कैप्ड खिलाड़ियों को भी बदलने की अनुमति दी है।

IPL Transfer Window

आईपीएल मिड-सीजन ट्रांसफर विंडो क्या है:- 

फ्रेंचाइजियों द्वारा इस विंडो के दौरान भारतीय और विदेशी दोनों कैप्ड और अनकैप्ड खिलाड़ियों को बदला जा सकता है। यह विंडो 7 अक्टूबर से लागू हुई है, लेकिन विंडो बिल्कुल आईपीएल के बीच में खोली जाएगी, जब सभी टीमों ने प्रत्येक में सात मैच खेले हों। आईपीएल ने पिछले सीजन में मिड-सीज़न ट्रांसफ़र विंडो की शुरुआत की थी और अनकैप्ड खिलाड़ियों के ट्रांसफ़र के लिए पांच दिन की विंडो खोली थी। इस साल, कैप्ड खिलाड़ियों को भी बदला जा सकता है।

दिल्ली की टीम के लेग स्पिनर अमित मिश्रा उंगली की चोट के बाद आईपीएल से बाहर हुए

कौन से खिलाड़ी बदले जा सकते हैं?

आईपीएल ट्रांसफर विंडो के अनुसार “कोई भी खिलाड़ी जिसने दो मैचों से कम (ग्यारहवें स्थान पर या विकल्प के रूप में) खेला हो।” उस खिलाडी को दोनों फ्रैंचाइज़ी की मर्जी से बदला जा सकता है जिस भी खिलाडी ने 2 से अधिक मैच खेले है उसको ट्रांसफर विंडो के तहत नहीं बदला जा सकता। 

DREAM11 IPL 2020 Schedule Check Match Details, Venue And Time Table

उदाहरण:- अगर दिल्ली कैपिटल के अजिंक्य रहाणे – जिन्होंने अब तक केवल एक ही मैच खेला है – आपसी समझौते से चेन्नई सुपर किंग्स को दे दिया जाता है, तो यह खिलाड़ी बाकी सत्र के लिए चेन्नई स्थित फ्रैंचाइज़ी का हिस्सा बन जाता है, लेकिन कैपिटल उनकी मूल टीम रहेगी।

चोटिल खिलाड़ियों को कैसे बदलें:-

टीम एक चोटिल खिलाड़ी की जगह अनसोल्ड खिलाड़ियों को उनके बेस प्राइस पे अपनी टीम में शामिल कर सकती है। यह आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मंजूरी के अधीन है।

List of Top 4 Teams of DREAM11 IPL 2020 Check Best Teams of IPL 2020